UGC Full Form in Hindi | UGC Online Study hindi 2019

UGC Full Form in Hindi

UGC Full Form in Hindi 2020 यूसीजी फुल फॉर्म अंग्रेजी UGC Ka Full Form Kya Hai, UGC का Full Form क्या है, UGC Ka Poora Naam Kya Hai, यूजीसी क्या है, ugc क्या काम करता है, ऐसे सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे| UCG Ki Puri Jankari Hindi Me

UGC की Full Form क्या है और UGC क्या है:-UGC की फुल फॉर्म University Grants Commission होती है. UGC को हिंदी में विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग कहते है. UGC एक ऐसा आयोग है जो देश के सभी विश्‍वविद्यालय को Grants प्रदान करता है. इसके अलावे University Grants Commission (UGC) Colleges को Affiliation भी प्रदान करता है.

सरकारी नौकरी (Govt Job Bharti) रोजगार समाचार (Rojgar Samachar Free Job Alert) एवं Full Form Online Teyari महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान / प्रश्न उत्तर की फ्री जानकारी पाने के लिए हमारे Whatsapp Group Join करे…!!

आइए… एक उज्ज्वल कैरियर के लिए Daily Rojgar Buzz टीम के साथ

यह एक वैधानिक निकाय है जिसे 1956 में शुरू किया गया था. यह भारत की विश्वविद्यालय शिक्षा (University education of india) के मानक को बनाए रखने के लिए केंद्र सरकार (central government) द्वारा स्थापित किया गया था. प्रोफेसर वेद प्रकाश (Professor Ved Prakash) जब इस संस्थान की शुरुआत कर रहे थे तब वे एक महान शिक्षाविद थे. यूजीसी का मुख्यालय नई दिल्ली (UGC Headquarters New Delhi) में है. आज के रूप में, कार्यालय कोलकाता (Kolkata office), नई दिल्ली (New Delhi) और बैंगलोर (Bangalore) सहित सभी प्रमुख शहरों में स्थित हो सकते हैं.

स्वतंत्रता के बाद भारत सरकार ने सोचा कि शिक्षा को प्राथमिक शिक्षा से लेकर शिक्षा के उच्चतम स्तर जैसे पीएचडी की डिग्री (PHD Degree) तक अधिकतम महत्व दिया जाना चाहिए. यही कारण है कि वे एक ऐसे निकाय के साथ आना चाहते थे जो यह सुनिश्चित करे कि भारत में शिक्षा एक निश्चित मानक को पूरा करे. यूजीसी मूल रूप से अलीगढ़ विश्वविद्यालय (Aligarh University), बनारस विश्वविद्यालय और दिल्ली विश्वविद्यालय (Banaras University and University of Delhi) को देख रहा था.

1957 में लगभग सभी विश्वविद्यालय यूजीसी के नियंत्रण में आ गए. यह देश में एकमात्र Grants देने वाला संस्थान है. यह धन प्रदान करता है और यह भारत में विश्वविद्यालयों के समन्वय और रखरखाव के लिए भी व्यवस्था करता है.

यूजीसी देश की शिक्षा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यह सुनिश्चित किया है कि उच्च शिक्षा में एक प्रणाली इसका अनुसरण करती है. यूजीसी यह भी सुनिश्चित करता है कि इन सभी शीर्ष विश्वविद्यालयों में शिक्षा एक ही मानक की हो ताकि इन कॉलेजों से पास होने वाले छात्रों को समान माना जा सके. भारत एक विशाल देश है जिसके परिणामस्वरूप विभिन्न पाठ्यक्रमों की पेशकश करने वाले हजारों कॉलेज हैं. यह सुनिश्चित करना असंभव है कि एक सामान्य मानक बनाए रखा जाए. हालांकि यूजीसी वास्तव में इस असंभव कार्य को संभव बनाता है.

यूजीसी लगभग आधी सदी से सफलतापूर्वक अपनी भूमिका निभा रहा है और भविष्य में भी ऐसा करना जारी रखेगा. यह सुनिश्चित करने के लिए सर्वोत्तम तरीकों में से एक है कि इन सभी विश्वविद्यालयों में शिक्षा समान है यह सुनिश्चित करना है कि शिक्षक समान रूप से अच्छे हैं. यही कारण है कि इनमें से किसी भी कॉलेज में लेक्चरर की नियुक्ति से पहले यूजीसी की अंतिम मंजूरी की आवश्यकता होती है.

यूजीसी की स्थापना 1945 में 3 केंद्रीय विश्वविद्यालय अलीगढ़, बनारस और दिल्ली की Education System की देखरेख करने के लिए की गयी थी और फिर 1947 में UGC की ज़िम्मेदारी को बढ़ा दिया और देश के सभी विश्‍वविद्यालय UGC की देखरेख में आ गये.

UGC के चेयरमैन का नाम D.P. Singh है. UGC का Head Office नयी दिल्ली में है और UGC का Headquarters पुणे, बंगलुरु, कोलकाता, हैदराबाद, भोपाल, और गुवाहाटी जैसे शहरो में स्थित है.

UGC ये सुनिश्चित करता है की देश के सभी शीर्ष विश्वविद्यालयों में एक ही स्तर की शिक्षा हो जिससे की उन विश्वविद्यालयों से सभी Passed छात्र समान हो और और ऐसा करने के लिए सभी विश्वविद्यालय के अध्यापक की knowledge समान होनी चाहये.

यूजीसी नेट का संचालन भी करता है, जो एक योग्यता का नाम है जो स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में पढ़ाने के लिए किसी व्यक्ति के लिए आवश्यक है. UGC ही राष्ट्रीय योग्यता परीक्षा National Eligibility Test NET का भी आयोजन करता है जिसे Passed करने के आधार पर विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयो मे Professor Teachers की नियुक्ति होती है. ये NET योग्यता परीक्षा शिक्षा में स्नातक स्तर पर M.Phil Passed लोगों के लिये व PG स्तर पर PHD Passed लोगों के लिये June 2006 से छूट है.

पूरी तरह से सोलह संस्थान हैं जो यूजीसी द्वारा नियंत्रित हैं. उनमें से कुछ के नाम एआईसीटीई, आरसीआई, डीसीआई, आदि हैं. इन संस्थानों में शिक्षा की बात आने पर यूजीसी का फैसला अंतिम होता है. 2009 में यह प्रस्ताव किया गया था कि यूजीसी को बंद कर दिया जाना चाहिए और एआईसीटीई (ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन) को यूजीसी की भूमिका निभानी चाहिए. हालांकि, यूजीसी अभी भी काम कर रहा है.

Latest GK Full Form Education 2020

★ यूजीसी के सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य★

यूजीसी में बहुत से महत्वपूर्ण उद्देश्य शामिल होते है जैसे कि:-

  • विश्वविद्यालयों में अनुसंधान, शिक्षण और परीक्षा के मानकों को बनाए रखना यूजीसी के महत्वपूर्ण उद्देश्यों में शामिल होता है.
  • उच्च-शिक्षा को बढ़ावा देना भी यूजीसी के महत्वपूर्ण उद्देश्यों में शामिल होता है.
  • देश में शिक्षा के न्यूनतम मानक को बनाए रखने के लिए नियम बनाना भी यूजीसी के महत्वपूर्ण उद्देश्यों में शामिल होता है.
  • केंद्र सरकार और उच्च शिक्षा संस्थानों के बीच एक लिंक की तरह कार्य करना भी यूजीसी के महत्वपूर्ण उद्देश्यों में शामिल होता है.
  • शिक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने के लिए सरकार को सलाह देना भी यूजीसी के महत्वपूर्ण उद्देश्यों में शामिल होता है.
★ UGC उच्चतम एजुकेशन ★

UGC उच्चतम एजुकेशन के लिए 16 तरह के Exam को Conduct करती है जैसे कि –

  • All India Council for Technical Education (AICTE)
  • Rehabilitation Council
  • Council of Architecture
  • Bar Council of India (BCI)
  • Indian Nursing Council (INC)
  • Dental Council of India (DCI)
  • Medical Council of India (MCI)
  • Pharmacy Council of India (PCI)
  • Distance Education Council (DEC)
  • State Councils of Higher Education
  • Central Council of Homoeopathy (CCH)
  • Rehabilitation Council of India (RCI)
  • National Council for Rural Institutes
  • Central Council of Indian Medicine (CCIM)
  • National Council for Teacher Education (NCTE)
  • Indian Council of Agricultural Research (ICAR)
★ महत्वपूर्ण लिंक ★
Gk Study Click Here
Full Form StudyClick Here
Sarkari Naukari List Click Here
Today Rojgar  Click Here
Admit Card Click Here
Chhattisgarh Click Here
All India Click Here

निवेदन:- आप सभी से अनुरोध है कि इस रोजगार समाचार विज्ञापन को अपने दोस्तों को Whatsapp अन्य सोशल नेटवर्क पर अधिक से अधिक शेयर करें और उनको भी अच्छा रोजगार पाने में उनकी मदद करें।

Leave a Comment